Movie prime

सरसों में आज बन सकती है अच्छी तेजी | जाने क्या है इसकी वज़ह

सरसों में आज बन सकती है अच्छी तेजी | जाने क्या है इसकी वज़ह

किसान साथियो सरसों के भाव में फिर से उठापटक शुरू हो गई है। जो सरसों कई महीनों से मंदी दलदल में फंसी हुई थी उसके अब इससे निकलने के चांस बनने लगे हैं। मंदी से उबारने में सबसे बड़ा योगदान विदेशी बाजारों का ही माना जा सकता है। 2024 की साल में विदेशी बाजारों में पाम  तेल के भाव 19% तक उछल चुके हैं। लेकिन समान अनुपात में भारतीय बाजार में तेल तिलहन के भाव नहीं बढ़े हैं, बल्कि इसमें गिरावट हुई है। चूंकि भारत एक खाद्य तेल का बड़ा आयातक देश है और इसे अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए विदेश से तेल आयात करना ही है इसलिए आज नहीं तो कल भारतीय बाजार को विदेशी बाजारों की दर्ज पर चलना ही पड़ेगा। भले ही इन दिनों सरसों की आवक जोरों पर होने के कारण घरेलू बाजार में तेजी ना बनी हो लेकिन विदेशी बाजारों की तेजी को भारतीय बाजार नकार नहीं सकते। आज की रिपोर्ट में हम सरसों के बाजार की हर गतिविधि को जानेंगे। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करें

ताजा मार्केट अपडेट
मंगलवार के दिन सरसों के बाजार में काफी हलचल देखने को मिली है। सुबह के सत्र में बढ़ी हुई आवक को देखकर सरसों के भाव में कमजोरी जरूर बनी थी लेकिन शाम होते होते विदेशी बाजारों में आयी बहार को देखकर घरेलू बाजार में भी सरसों के भाव बढ़ गए। विदेशी बाजारों की कल की तेजी का असर आज भारतीय बाजारों पर दिख सकता है और भाव 50 से 100 रुपये प्रति क्विंटल तक उछल सकते हैं। भाव की बात करें तो जयपुर में कंडीशन 42% सरसों के भाव कमजोर होकर 5475 रुपये तक गिर गए थे लेकिन अंतिम समाचार मिलने तक भाव 5500 के उपर के ही बताये जा रहे हैं। भरतपुर का बाजार भी 5100 तक टूटा था लेकिन शाम को यहां भी 5125 तक के भाव की रिपोर्ट सुनने में आई है।

हाजिर मंडियों के टॉप भाव
हाजिर मंडियों के ताजा भाव की बात करें तो मंडियों में सरसों के भाव 4700 से 5200 प्रति क्विंटल तक लैब के हिसाब से बोले जा रहे हैं। मुख्य मंडियों के भाव को देखें तो राजस्थान की नोहर मंडी में सरसों का रेट 5120, जैतसर मंडी में सरसों का रेट 4945, सूरतगढ़ मंडी में सरसों का भाव 4986, रायसिंहनगर मंडी में सरसों का टॉप भाव 5004, राजगढ़ मंडी में सरसों का रेट 4900, संगरिया मंडी में सरसों का भाव 47 00 गोलूवाला मंडी में 40 लैब सरसों का रेट 4840 पीलीबंगा मंडी में सरसों का टॉप रेट 5020 बीकानेर मंडी में सरसों का उच्चतम भाव 4951 अनूपगढ़ मंडी में सरसों का टॉप रेट 4970 रुपये प्रति क्विंटल तक रहा । हरियाणा की मंदिरों की बात करें तो सिरसा मंडी में कंडीशन सरसों का भाव 5235 ऐलनाबाद मंडी में 40 लैब सरसों का भाव 5081 आदमपुर मंडी में 41.5 4 लैब सरसों का रेट 5111 और 42 लैब सरसों का भाव 5151, रेवाड़ी मंडी में सरसों का रेट 5100, च दादरी मंडी में सरसों का भाव 5200 लैब 40 नमी 7% और फतेहाबाद मंडी में नॉन कंडीशन सरसों 4865 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से बिक्री है। इसके अलावा अबोहर मंडी में सरसों का भाव 5250 खैरथल मंडी में सरसों का रेट 5100 अलीगढ़ मंडी में सरसों का भाव 4900 हापुर मंडी में सरसों का रेट 5250 और खेरली मंडी में सरसों का भाव 5150 तक रहा। MP के किसानों को यहां मिलेगे सरसों के टॉप रेट

विदेशी बाजारों में आयी तूफानी तेजी
मंगलवार को सुबह से सत्र में खाद्य तेलों के भाव में नरमी जरूर दिख रही थी लेकिन मार्केट बंद होते होते बाजार में अच्छी खासी तेजी देखने को मिली। शिकागो में सोया तेल की मजबूती के कारण मलेशियाई पाम तेल वायदा की कीमतों में मंगलवार को लगातार तीसरे दिन तेजी बनी। बर्सा मलेशिया डेरिवेटिव्स एक्सचेंज (BMD) पर पाम तेल के वायदा अनुबंध में 68 रिंगिट यानी की 1.55% की तेजी के बाद भाव दाम 4450  रिंगिट प्रति टन के स्तर को पार कर गए। चीन के डालियान कमोडिटी एक्सचेंज पर सोया तेल वायदा अनुबंध में 0.51% की वृद्धि हुई, जबकि इसके पाम तेल वायदा अनुबंध में 0.56% की बढ़ोतरी दर्ज की गई। शिकागो बोर्ड ऑफ ट्रेड पर सोया तेल के भाव में तूफानी तेजी बनी और सूचकांक 3.10% तक उछल गया। हालांकि बाद में इसमे थोड़ा करेक्शन भी हुआ। विदेशी बाजारों में आयी इस तेजी पर जानकारों का कहना है कि शिकागो में सोया तेल के दाम बढ़ने के साथ ही क्रूड तेल में मजबूती और कमजोर रिंगिट से पाम तेल की कीमतों में तेजी को समर्थन मिला है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि देश में पाम तेल का आयात मार्च में दस महीने के निचले स्तर 481,000 टन पर रह गया, क्योंकि आयातक सूरजमुखी तेल के सस्ता होने के कारण इसका आयात ज्यादा कर रहे हैं। सरसों को टॉप रेट में बेचना है तो यहां क्लिक करें

सरसों में आज तेजी के आसार
मरुधर एजेंसी की ताजा रिपोर्ट के अनुसार मार्च महीने में साढे 15 लाख टन सरसों की आवक हुई है जबकि साल 2023 में यह 16 लाख टन की थी। अगर बात क्रशिंग की की जाए तो इस साल पिछले साल से ज्यादा सरसों की क्रशिंग की गई है। हालांकि अभी भी पिछले साल के मुकाबले 1 अप्रैल 2024 को सरसों की उपलब्धता ज्यादा है। लेकिन इस साल सरकार पिछले सला से अधिक सरसों को MSP पर खरीदेगी। इस हिसाब से देखा जाए तो घरेलू बाजार में कुल मिलाकर मामला संतुलित नजर आता है। कहने का मतलब यह है कि अगर विदेशी बाजारों में तेजी बनती है तो यहां से आगे भारतीय बाजार विदेशी बाजारों को फॉलो करते दिखाई देंगे। क्योंकि कल विदेशी बाजारों में अच्छी तेजी देखने को मिली है इसलिए पूरी संभावना है कि आज सरसों के भाव 50 से 100 रुपये तक तेज हो सकते हैं। जो किसान साथियों MSP पर सरसों बेचने के लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं कर पाए वह इस तेजी का फायदा उठा सकते हैं और थोड़ा बहुत माल निकल भी सकते हैं। जो किसान साथी माल को होल्ड करना चाहते हैं वह चाहे तो इसे होल्ड भी कर सकते हैं आने वाले समय में सरसों में मंदी की धारणा समाप्त नजर आती है। बाकी व्यापार अपने विवेक से करें।

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।