Movie prime

भारत सरकार ने दी तंजानिया को 30000 MT गैर-बासमती चावल निर्यात करने की मंजूरी | देखे पूरी जानकारी इस रिपोर्ट में

भारत सरकार ने दी तंजानिया को 30000 MT गैर-बासमती चावल निर्यात करने की मंजूरी | देखे पूरी जानकारी इस रिपोर्ट में

किसान साथियो मौजूदा निर्यात प्रतिबंधों के बावजूद, भारत तीन अफ्रीकी देशों तंजानिया, गिनी-बिसाऊ और जिबूती को चावल निर्यात करेगा। केंद्र सरकार ने तंजानिया को 30,000 टन गैर-बासमती चावल के निर्यात को मंजूरी दे दी है। इसके अलावा, जिबूती और गिनी बिसाऊ को प्रति देश 30,000 टन टूटे चावल के निर्यात को भी मंजूरी दी गई। इन देशों में चावल का निर्यात नेशनल कोऑपरेटिव एक्सपोर्ट्स लिमिटेड (एनसीईएल) के जरिए किया जाएगा। विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने चावल के निर्यात के लिए एक नोटिस जारी किया है। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करें

क्यों लगाया था चावल के निर्यात पर प्रतिबंध
साथियो जैसा की आप सभी को पता ही है की देश की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने और घरेलू कीमतों को काबू में लाने के लिए भारत ने चावल की कुछ किस्मों के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसमें सितंबर 2022 में टूटे हुए चावल और जुलाई 2023 में गैर-बासमती सफेद चावल पर प्रतिबंध शामिल था।प्रतिबंध के बाद, भारत सरकार अपने राजनयिक साझेदार देशों और जरूरतमंद देशों को मामले-दर-मामले आधार पर चावल की आपूर्ति कर रही है। यह फैसला विदेश मंत्रालय की सिफारिश पर लिया गया. इससे पहले, सरकार ने नेपाल, मलेशिया, फिलीपींस, भूटान, मॉरीशस, सिंगापुर और संयुक्त अरब अमीरात सहित एक दर्जन एशियाई और अफ्रीकी देशों को सीमित मात्रा में सफेद चावल और टूटे हुए गैर-बासमती चावल के निर्यात को मंजूरी दी थी।

भारत सरकार ने दी बांग्लादेश को 50000 MT प्याज एक्सपोर्ट करने की मंजूरी
केंद्र सरकार ने शुक्रवार (1 मार्च, 2024) को व्यापारियों को बांग्लादेश को प्याज निर्यात करने की मंजूरी दे दी। सरकार नेशनल कोऑपरेटिव एक्सपोर्ट्स लिमिटेड (एनसीईएल) के माध्यम से बांग्लादेश को 50,000 टन (एमटी) प्याज का निर्यात करेगी। एनसीईएल बांग्लादेश में 50,000 टन कार्गो का निर्यात करेगा। आपको बता दें कि पिछले हफ्ते सरकार ने व्यापारियों को 31 मार्च तक बांग्लादेश, मॉरीशस, बहरीन और भूटान को 54,760 टन प्याज निर्यात करने की अनुमति दी थी. बाकी व्यापार अपने विवेक से करे

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।