Movie prime

हड़ताल खुलने के बाद मंडियों से क्या मिल रहे हैं रूझान | धान को रोके या बेचे | जाने इस रिपोर्ट में

हड़ताल खुलने के बाद मंडियों से क्या मिल रहे हैं रूझान | धान को रोके या बेचे | जाने इस रिपोर्ट में

किसान साथियो जैसा कि हमने अपनी कल की रिपोर्ट में बताया था कि निर्यातकों और राईस मिलों की हड़ताल खत्म हो गई है। बासमती धान की खरीद शुरू हो गई है। खरीद शुरू होने के बावजूद भी 1121, 1718 और 1401 जैसी वैरायटी में तो भाव सुधर रहे हैं। लेकिन 1847 और 1692 में अभी तक उतना सुधार नहीं दिखा है। जैसा कि आप सबको पता है कि हड़ताल के चलते 15 अक्टूबर से लेकर 19 अक्टूबर तक बासमती की खरीद बंद थी । इसके चलते किसानों को भारी नुकसान झेलना पड़ा है। अब देखने वाली बात यह है कि इस नुकसान की भरपाई हो सकती है या नहीं। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करें

मंडियों में धान की खरीद पर क्या है अपडेट
शुक्रवार को राइस मिलों की खरीद शुरू होने से बासमती के बाजार में तेजी तो बनी है लेकिन अभी तक पिछले वाले भाव देखने को नहीं मिले हैं। धान की कीमतों में केवल 100 से 150 रुपये प्रति क्विंटल की तेजी ही देखने को मिली है जबकि हड़ताल के कारण भाव 400 से 500 रुपये प्रति क्विंटल तक गिरे थे। शुक्रवार को हरियाणा की जींद मंडी में पूसा 1,121 के हाथ से कटे हुए धान के भाव 100 रुपये तेज होकर 4,515 रुपये और 1,718 वैरायटी धान 4,000 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से बिके। बात 1,509 की करें तो इसके रेट 3,350 से 3,650 रुपये प्रति क्विंटल के रहे। राज्य की समालखा मंडी में पूसा 1121 किस्म के धान के भाव 4,600 रुपये, 1,718 किस्म के धान के भाव 4131 रुपये तथा 1,847 किस्म के धान के दाम 3,331 रुपये प्रति क्विंटल रहे।

पंजाब से क्या मिल रहे हैं रूझान
इसी तरह से पंजाब की अमृतसर मंडी में शुक्रवार को धान की दैनिक आवक बढ़कर एक लाख कट्टों की हुई है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब की मंडियों से अभी तक 1121 और 1718 के धान के भावों का रूझान निकलकर सामने नहीं आया है। अमृतसर मंडी में पूसा 1,509 किस्म के धान के भाव 2,300 से 3,435 रुपये और 1,847 किस्म के धान के भाव 2,400 से 3,125 रुपये प्रति क्विंटल रहे। राज्य की तरनतारन मंडी में धान की आवक 22,000 कट्टों की हुई तथा 1,509 किस्म के धान के दाम 150 रुपये तेज होकर 3,660 रुपये और कंबाइन के 2,700 से 3,610 रुपये प्रति क्विंटल रहे।

दिल्ली में क्या रहे भाव
बात दिल्ली की करें तो दिल्ली की नरेला मंडी में 1,121 किस्म के धान के दाम तेज होकर 4,614 रुपये, 1,718 किस्म के धान के भाव 4,000 रुपये और 1,509 किस्म के धान के भाव 3,200 से 3,470 रुपये प्रति क्विंटल तक बोले गए हैं । दिल्ली की नजफगढ़ मंडी से अभी तक भाव के रूझान प्राप्त नहीं हुए है। उम्मीद है कि आज यहां से भी भाव मिलने शुरू हो जाएंगे।

MEP पर क्या है अपडेट
हड़ताल खुलने के साथ ही उत्पादक मंडियों धान की दैनिक आवकों में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई। ऑल इंडिया राइस एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन (AIREA) के अध्यक्ष नाथी राम गुप्ता ने राइस मिलर्स एवं निर्यातकों से कहा है व्यापारी धान की खरीद अपने विवेक से करे, क्योंकि बासमती सेला चावल के न्यूनतम निर्यात मूल्य, एमईपी को 1,200 डॉलर प्रति टन कम करने की फाइल जीओएम की बैठक में आने वाली है, तथा यह बैठक होने में अभी समय लग सकता है।

चावल के भाव पर क्या है अपडेट
चावल के भाव को देखें तो उत्तर भारत के राज्यों में पूसा 1,509 किस्म के सेला चावल का भाव 6,500 से 6,700 रुपये और इसके A+ ग्रेड का स्टीम चावल का 7,500 से 7,900 रुपये प्रति क्विटल पर चल रहा है । शुक्रवार को इसमें 100 रुपये की तेजी दर्ज की गई है इसी तरह से 1121 का  A+ ग्रेड का स्टीम क्वालिटी का चावल 9800 से 10500 की रेंज में बना हुआ है। बात सेला की करें तो 8300 gal का टॉप भाव बोला जा रहा है।

धान को रोके या बेचे
किसान साथियो धान के भाव को लेकर असमंजस की स्थिति अभी कुछ दिन तक और बनी रह सकती है। सरकार ने अभी तक MEP घटाने को लेकर अभी तक ब्लैक एंड व्हाइट में कोई आदेश जारी नहीं किया है। जब तक इस पर कोई स्पष्टीकरण नहीं आता है तब तक कुछ भी कहना मुश्किल है। हालांकि 1121 और 1718 जैसी ऊंची वैरायटी में फ़िलहाल कोई रिस्क नहीं लग रहा है। लेकिन जिन किसान साथियो को रिस्क नहीं लेना है वे 1509, 1692 और 1847 जैसी किस्मों को अच्छे भाव मिलते ही निकाल सकते है। मंडी भाव टुडे पर हम MEP के मामले को नजदीक से ट्रैक कर रहे हैं। इससे संबंधित ताजा अपडेट के लिए आप हमसे यूट्यूब और फेसबुक पर जुड़ सकते हैं। साथियो व्यापार आपको अपने विवेक से ही करना है

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।