Movie prime

सीमित रेंज को तोड़कर अब किस तरफ चलेगा सरसों का बाजार | जाने सरसों तेजी मंदी रिपोर्ट में

सीमित रेंज को तोड़कर अब किस तरफ चलेगा सरसों का बाजार | जाने सरसों तेजी मंदी रिपोर्ट में

किसान साथियो सोशल मीडिया पर बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो आपको प्रतिदिन सरसों में तूफानी तेजी बताते हैं। लेकिन मंडी भाव टुडे पर हमने बहुत पहले ही बता दिया था कि जयपुर में 6200 का स्तर एक ऐसा स्तर है जिसके पार जाने के बाद ही सरसों सरसों का बाजार अगली तेजी के लिए तैयार होगा। आप देख ही रहे हैं कि इस समय सरसों का बाजार 6200 के स्तर के पार तो जाता है लेकिन वहां पर होल्ड नहीं कर पता है बार-बार बाजार नीचे फिसल रहा है। इसका सीधा सा इशारा यह है कि 6200 के स्तर पर सरसों में बिकवाली देखने को मिल रही है। ऐसे में जो किसान सरसों को होल्ड करके बैठे हैं उन्हें सरसों में तेजी के अगले साइकल का इंतजार है। अब अगली तेजी आयेगी या नहीं और आयेगी भी तो भाव को कितना आगे लेकर जाएगी आज की रिपोर्ट में हम यही डिस्कस करेंगे। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करे

ताजा मार्केट अपडेट
साथियो सोमवार को बाजार जब खुला तो बाजार में 50-75 रुपए तक की गिरावट दिखाई दी। साथियो सोमवार को जब बाजार खुले तो जयपुर में कंडीशन सरसों के भाव में ₹75 की गिरावट दिख रही थी शाम होते-होते गिरावट और बड़ी और भाव 100 रुपए तक गए। अंतिम भाव 6100 रुपये प्रति क्विंटल रिपोर्ट किए गए हैं। भरतपुर मंडी में सुबह के सत्र में 36 रुपए की गिरावट देखी गई और शाम होते होते भाव 16 का सुधार देखने को मिला और भाव भाव 5730 रुपए तक बोला गया। बात करे दिल्ली और चरखी दादरी मंडी की तो यहां 25-25 रुपये की गिरावट देखी गई। दिल्ली में भाव 5975 और चरखी दादरी में 5925 रुपये के रह गए। बाकि बात करे जयपुर में सरसों तेल कच्ची घानी और एक्सपेलर की कीमतों की तो सोमवार को भी गिरावट दर्ज की गई। कच्ची घानी सरसों तेल के भाव 16 रुपये कमजोर होकर भाव 1,165 रुपये प्रति 10 किलो रह गए, जबकि सरसों एक्सपेलर तेल के दाम भी 16 रुपये घटकर 1,155 रुपये प्रति 10 किलो रह गए। जयपुर में सोमवार को सरसों खल के भाव 20 रुपये कमजोर होकर दाम 2,770 रुपये प्रति क्विंटल रह गए।

प्लांटों पर क्या रहा रूझान
ब्रांडेड तेल मिलों पर सरसों के भाव में कल अच्छी खासी गिरावट आई है सलोनी प्लांट पर सरसों का भाव 6475 रुपए प्रति कुंतल गिर गया और इसमें ₹50 की गिरावट देखने को मिली है । आगरा में बीपी और शारदा प्लांट पर गिरावट इससे भी ज्यादा देखने को मिली है। शारदा प्लांट पर सरसों के भाव ₹100 तक कमजोर हो कर भाव 6300 रुपए तक रह गए हैं इसी तरह से बीपी आगरा प्लांट पर सरसों 100 रुपए तक गिर कर अंतिम भाव यहां पर भी 6300 के ही बोले गए । अदानी बूंदी और अलवर प्लांट पर सरसों के भाव में भी 50- 50 रूपये की गिरावट आई है अदानी बूंदी में सरसो का भाव 6000 से 6050 तक बाले गए और अलवर प्लांट में भाव 6025 रूपये रहा

हाजिर मंडियों के ताजा भाव
बात करे हाजिर मंडियों के ताजा भाव की तो राजस्थान की गोलूवाला मंडी में सरसों का भाव ₹ 5257/5703, देवली मंडी सरसों भाव ₹ 4400/5800 और 42% सरसों भाव ₹ 5730/5780, सूरतगढ़ मंडी सरसों का रेट 5045/5550 नोहर मंडी में 41 लैब सरसों का भाव 5650 घडसाना मंडी में सरसों का टॉप रेट 5709 और अनूपगढ़ मंडी में 41 लैब सरसों का भाव 5564, श्री विजयनगर मंडी सरसों भाव 5081/5557, पीलीबंगा मंडी सरसों का रेट 5550/5640, श्रीगंगानगर मंडी में सरसों का भाव ऊपर में 5786 रुपए प्रति कुंतल तक दर्ज किया गया। हरियाणा की बात करें तो सिरसा मंडी में सरसों का भाव 5200/5770, आदमपुर मंडी में 42 लैब सरसों का रेट 5680 और 5564 ऐलनाबाद मंडी में सरसों का रेट 5696 रुपये प्रति क्विंटल तक दर्ज किया गया।

विदेशी बाजारों की अपडेट
किसान साथियो सोमवार को मलेशियाई पाम तेल वायदा में गिरावट देखी गई, शिकागो सोया तेल की कीमतों में गिरावट और जून के निर्यात अनुमानों में कमी के कारण दबाव का सामना करना पड़ा। बर्सा मलेशिया डेरिवेटिव्स एक्सचेंज पर अगस्त डिलीवरी के पाम तेल वायदा अनुबंध में 1.46 प्रतिशत की गिरावट आकर भाव 3,917 रिंगिट प्रति टन पर बंद हुए। उधर शिकागो बोर्ड ऑफ ट्रेड पर सोया तेल की कीमतों में 0.46 प्रतिशत की गिरावट आई। मई में मलेशियाई पाम तेल स्टॉक में बढ़ोतरी के बावजूद, मजबूत निर्यात के कारण इसके दाम तीन महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गए थे, लेकिन जून में इसके निर्यात में कमी आने की आशंका है। 1-10 जून से दौरान पाम उत्पादों के निर्यात में 20 प्रतिशत से अधिक की गिरावट का अनुमान है, जिससे कीमतों पर दबाव बना है। उधर संयुक्त राज्य अमेरिका में भी अनुकूल मौसम से सोया तेल के दाम कमजोर हुए हैं।

तेल और खल के भाव
जयपुर में सरसों तेल कच्ची घानी और एक्सपेलर की कीमतों की तो सोमवार को भी गिरावट दर्ज की गई। कच्ची घानी सरसों तेल के भाव 16 रुपये कमजोर होकर भाव 1,165 रुपये प्रति 10 किलो रह गए, जबकि सरसों एक्सपेलर तेल के दाम भी 16 रुपये घटकर 1,155 रुपये प्रति 10 किलो रह गए। जयपुर में सोमवार को सरसों खल के भाव 20 रुपये कमजोर होकर दाम 2,770 रुपये प्रति क्विंटल रह गए। देशभर की मंडियों में सरसों की दैनिक आवक बढ़कर छ लाख बोरियों की ही हुई, जबकि इसके पिछले कारोबारी दिवस में भी आवक 5 लाख बोरियों की हुई थी। कुल आवकों में से प्रमुख उत्पादक राज्य राजस्थान की मंडियों में सरसों की 3.75 लाख बोरी, जबकि मध्य प्रदेश की मंडियों में 50 हजार बोरी, उत्तर प्रदेश की मंडियों में 55 हजार बोरी, पंजाब एवं हरियाणा की मंडियों में 25 हजार बोरी तथा गुजरात में 20 हजार बोरी, एवं अन्य राज्यों की मंडियों में 75 हजार बोरियों की आवक हुई।

आगे कैसा रहेगा सरसों का बाजार
किसान साथियो जब से सरसों में तेजी का माहौल बना है तब से ही हम मंडी भाव टुडे पर कह रहे हैं कि अगर जयपुर में सरसों का भाव 6200 के उस पार कुछ दिन तक होल्ड कर जाता है तो निश्चित रूप से अगला पड़ाव 6500 का है। बात भरतपुर की मंडी की करें तो यहां पर 6000-6100 तक के भाव कोई बहुत बड़ी बात नहीं है। लेकिन ऐसा तभी संभव हो पाएगा जब विदेशी बाजारों में कोई बहुत बड़ी गिरावट ना हो और सरकार द्वारा तेल तिलहन के किसानों के हित में निर्णय लिए जाएं। मध्य प्रदेश के शिवराज सिंह को कृषि मंत्री बनाया गया है और हमें पूरी उम्मीद है कि वह किसान हित में खास तौर पर तेल तिलहन के किसानों के लिए खाद्य तेलों पर आयात ड्यूटी को बढ़ाएंगे। इसके अलावा सरसों का उत्पादन तो कम लग ही रहा है कल भी सरसों की आवक 6 लाख बोरी के आंकड़े को पार नहीं कर पाई अगर सरसों की आवक लगातार इसी दायरे में इसके नीचे जाती है तो भी सरसों के भाव और बढ़ सकते हैं। जिन किसान साथियो में लंबा इंतजार करने की इच्छा शक्ति नहीं है वह इन भावों पर भी अपना माल निकाल सकते हैं यहां से आगे छोटी अवधि कोई बहुत बड़ी गिरावट और बहुत बड़ी तेजी की उम्मीद कम ही है अगर आपको 100 - 200 के मार्जिन से कोई फर्क नहीं पड़ता है तो यह भी सरसों बेचने का उपयुक्त समय हो सकता है। आज मलेशिया के बाजार लगभग 1% की तेजी दिख रहे हैं ऐसा हो सकता है कि आज सरसों के भाव 25-50 रुपये तक तेज खुलें | व्यापार आपको अपने विवेक से ही करना है।

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।