Movie prime

सरसों को अब सरकारी खरीद और विदेशी बाजारों की तेजी का सहारा | जाने कैसा रहेगा सरसों का बाजार

सरसों को अब सरकारी खरीद और विदेशी बाजारों की तेजी का सहारा | जाने कैसा रहेगा सरसों का बाजार

किसान साथियो नीचे दाम पर तेल मिलों की खरीद से घरेलू बाजार में मंगलवार को सरसों की कीमतों में सुधार आया। जयपुर में कंडीशन की सरसों के भाव 50 रुपये की तेजी आकर दाम 5,475 रुपये प्रति क्विंटल हो गए। प्लांटों में 50 रु प्रति क्विंटल तक तेजी आई। विश्व बाजार में खाद्वय तेलों की कीमतों में मिलाजुला रुख रहा। मलेशियाई पाम तेल के भाव में हल्का सुधार आया, लेकिन शिकागो में सोया तेल की कीमतों में नरमी दर्ज की गई थी। जानकारों के अनुसार विश्व बाजार में खाद्वय तेलों में अभी सीमित तेजी, मंदी बनी रहने का अनुमान है। उधर घरेलू बाजार में सरसों तेल की कीमतों में तेजी दर्ज की गई, जबकि इस दौरान सरसों खल के भाव लगातार दूसरे दिन कमजोर हुए। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करें

उत्पादक मंडियों में मंगलवार को सरसों की दैनिक आवकों में कमी दर्ज की गई। हालांकि उत्पादक राज्यों में मौसम साफ है, इसलिए सरसों की दैनिक आवकों का दबाव अभी बना रहेगा। चालू रबी में सरसों का उत्पादन अनुमान ज्यादा है तथा किसान माल नहीं रोक रहे हैं। दैनिक आवकों का देखते हुए तेल मिलें भी केवल जरुरत के हिसाब से ही खरीद कर रही हैं। खपत का सीजन होने के कारण सरसों तेल में मांग अभी बनी रहेगी तथा आयातित खाद्वय तेलों में आई तेजी के कारण घरेलू बाजार में सरसों एवं तेल की कीमतों में सुधार आने की उम्मीद है। सस्ते में अनाज खरीदना है तो यहां देखें कहां के लिए निकली है अनाज रेक

जयपुर में सरसों तेल कच्ची घानी और एक्सपेलर की कीमतों में मंगलवार को तेजी दर्ज की गई। कच्ची घानी सरसों तेल के भाव 10 रुपये तेज होकर दाम 1,032 रुपये प्रति 10 किलो हो गए, जबकि सरसों एक्सपेलर तेल के दाम भी 10 बढ़कर भाव 1,022 रुपये प्रति 10 किलो हो गए। जयपुर में मंगलवार को सरसों खल की कीमतें 40 रुपये कमजोर होकर 2,480 रुपये प्रति क्विंटल रह गई। देशभर की मंडियों में सरसों की दैनिक आवक घटकर 13 लाख बोरियों की ही हुई, जबकि पिछले कारोबारी दिवस में आवक 13.25 लाख बोरियों की हुई थी। कुल आवकों में से प्रमुख उत्पादक राज्य राजस्थान की मंडियों में नई सरसों की 6.75 लाख बोरी, जबकि मध्य प्रदेश की मंडियों में 1.65 लाख बोरी, उत्तर प्रदेश की मंडियों में 1.70 लाख बोरी, पंजाब एवं हरियाणा की मंडियों में 65 हजार बोरी तथा गुजरात में 65 हजार बोरी, एवं अन्य राज्यों की मंडियों में 1.60 लाख बोरियों की आवक हुई। बाकी व्यापार अपने विवेक से करे

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।