Movie prime
ग्वार के किसानों के लिए यह रिपोर्ट देखना जरूरी है ग्वार तेजी मंदी रिपोर्ट 23 सितंबर 22
 
Guar gum

ग्वार में सावधान रहने की जरूरत देखें आज की तेजी मंदी रिपोर्ट

किसान साथियो ज्यादा दिन नहीं हुए जब मीडिया में हल्ला गुल्ला चल रहा था कि इस बार ग्वार की बम्पर बुवाई हुई है जिसके चलते बम्पर उत्पादन होगा। इस खबर के चलते ग्वार के भाव 6000 रुपये प्रति क्विंटल से गिर कर 4200 रुपये प्रति क्विंटल तक आ गए थे। लेकिन मीडिया ने ग्वार को लेकर अपना रुख बदल दिया है अब खबर आ रही है कि बारिश ना होने के कारण आशंका है कि ग्वार की फ़सल में बड़ा नुकसान हो सकता है। जिसके कारण भाव में एकाएक तेजी बन गई है।

उत्पादन कम होने की आशंका के चलते ग्वार के प्रमुख उत्पादक राज्य राजस्थान के साथ-साथ हरियाणा में भी निर्यातक व्यापारियों और और स्टॉकिस्टों ने सक्रियता बढ़ा दी है। इसके कारण पिछले एक हफ्ते में वायदा बाजार के साथ-साथ हाजिर मंडियों में ग्वार सीड और गम में तेजी का माहौल बना हुआ है।  पिछले सप्ताह आदमपुर मंडी में पुराना ग्वार 5100 और नया ग्वार 4900 रुपए के स्तर पर बोला गया।

WhatsApp पर भाव पाने के लिए ग्रुप join करे

इस समय हरियाणा की सभी मंडियों में हड़ताल है, जबकि राजस्थान की मंडियों में ग्वार का दाम 4700 रुपए से लेकर 5200 रुपए तक बोला जा रहा है। साथियो जैसा कि आप सबको पता है कि नए-पुराने ग्वार में 50-100 रुपए का अंतर रहता है।

हाजिर मंडियों में ग्वार के भाव इस तरह से रहे
रावला मंडी में ग्वार का भाव 4760, सूरतगढ़ मंडी में ग्वार का भाव 4821, केसरीसिंहपुर में ग्वार का भाव 4851, नोहर मंडी में ग्वार का भाव 4991, पीलीबंगा मंडी में ग्वार का भाव 4650, अनूपगढ़ मंडी में ग्वार का भाव 4791, रायसिंहनगर मंडी में ग्वार का भाव 4963, श्री गंगानगर मंडी में ग्वार का भाव ₹4845 प्रति क्विंटल और बीकानेर मंडी में ग्वार का भाव 4950 रुपए प्रति क्विंटल तक बोला गया है।

वायदा में भी ग्वार सीड जो कि 25 अगस्त को 4550 ले लेवल पर आ गया था अब 5200 रुपए के उपर चल रहा है और ग्वार गम जो कि 25 अगस्त को 8650 पर चल रहा था आज 10400 के आसपास का स्तर दिखा रहा है।

Guar Gum Chart
Source - Investing.com

निर्यात मांग बढ़ने और फसल कमजोर रहने की आशंका से बाजार कुछ और तेज होने की तरफ बढ़ सकता है। लेकिन अभी तक बड़ी तेजी दिखाई नहीं दे रही है। अच्छी बात यह है कि 20 सितंबर के बाद से हरियाणा राजस्थान में कुछ बरसातें हुई है जिससे फसल में थोड़ा सुधार देखने को मिल सकता है। इसलिए फिलहाल स्टॉक से बचना चाहिए और आवक बढ़ने के बाद भाव पर आने वाले दबाव के समय पर ही नई खरीद करनी चाहिए। बाकी व्यापार अपने विवेक से करें

ये भी पढे :-  सरसों का पूरा हिसाब किताब और आज की तेजी मंदी रिपोर्ट 22 सितंबर 22