Movie prime

जनवरी महीने में देशभर की मंडियों में हुई 172.10 लाख गांठ कॉटन की आवक हुई

जनवरी महीने में देशभर की मंडियों में हुई 172.10 लाख गांठ कॉटन की आवक हुई

किसान साथियो कॉटन कारपोरेशन ऑफ इंडिया, सीसीआई के अनुसार पहली अक्टूबर 2023 से शुरू हुए चालू फसल सीजन 2023-24 में 31 जनवरी 2024 तक देशभर की मंडियों में 172.10 लाख गांठ, एक गांठ 170 किलो कॉटन की आवक हो चुकी है। देशभर की मंडियों में गुरुवार को कपास की आवक 1,76,000 गांठ, एक गांठ-170 किलो की हुई तथा किसान माल नहीं रोक रहे हैं, इसलिए मध्य फरवरी तक कपास की दैनिक आवक बराबर बनी रहने का अनुमान है। स्पिनिंग मिलों की सीमित मांग होने के कारण गुरुवार को दोपहर बाद गुजरात के साथ ही उत्तर भारत के राज्यों में कॉटन के दाम लगभग स्थिर बने रहे। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करें

साथियो गुजरात के अहमदाबाद में 29 शंकर-6 किस्म की कॉटन के भाव 55,200 से 55,500 रुपये प्रति कैंडी, एक कैंडी-356 किलो पर स्थिर हो गए। पंजाब में नई रुई के हाजिर डिलीवरी के भाव 5500 से 5550 रुपये प्रति मन बोले गए । हरियाणा में नई रुई के भाव हाजिर डिलीवरी के भाव 5450 से 5550 रुपये प्रति मन बोले गए। ऊपरी राजस्थान में नई रुई के भाव हाजिर डिलीवरी के दाम 4600 से 5675 रुपये प्रति मन बोले गए। खैरथल लाइन में कॉटन के दाम 54,000 से 54,800 रुपये कैंडी, एक कैंडी-356 किलो बोले गए ।

साथियो घरेलू वायदा बाजार एमसीएक्स के साथ ही एनसीडीएक्स पर आज शाम को कॉटन की कीमतों में शाम को मिलाजुला रुख रहा। उधर आईसीई के इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग में कॉटन के दाम शाम के सत्र में मंदी का रुख रहा । व्यापारियों के अनुसार कॉटन में अभी बड़ी तेजी के आसार नहीं है, क्योंकि घरेलू बाजार में सूती धागे में मांग सामान्य की तुलना में कमजोर है, साथ ही निर्यात में भी पड़ते कम लग रहे हैं। जानकारों का मानना है कि खपत का सीजन होने के कारण आगामी दिनों में यार्न की स्थानीय मांग बढ़ने की उम्मीद है तथा मिलों के पास कॉटन का बकाया स्टॉक कम है। सीसीआई के पास कॉटन का स्टॉक ज्यादा है, इसलिए चालू सीजन में कॉटन की कीमतों में तेजी, मंदी सीसीआई के बिक्री भाव पर भी निर्भर करेगी ।

साथियो पहली अक्टूबर 2023 से शुरू हुए चालू फसल सीजन 2023-24 में दिसंबर अंत तक कॉटन कारपोरेशन आफ इंडिया, सीसीआई 19.28 लाख गांठ, एक गांठ 170 किलो कॉटन की खरीद कर चुकी है। अभी तक कुल खरीद में 80 फीसदी दक्षिण भारत के राज्यों से हुई है। कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया, सीएआई ने फसल सीजन 2023-24 के दौरान अपने कपास उत्पादन अनुमान को 294.10 लाख के पूर्व स्तर पर बरकरार रखा है। मालूम हो कि फसल सीजन 2022-23 के दौरान देशभर में 318.90 लाख गांठ कॉटन का उत्पादन हुआ था।

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।