Movie prime

इस सीजन भी सरकार गेंहू खरीद लक्ष्य को नहीं कर पाई पूरा | क्या असर पड़ सकता है गेहूं के भाव पर

इस सीजन भी सरकार गेंहू खरीद लक्ष्य को नहीं कर पाई पूरा | क्या असर पड़ सकता है गेहूं के भाव पर

किसान साथियो मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, और राजस्थान जैसे राज्यों में सरकारी गेहूं की खरीद में आंकड़ों की कमी दिख रही है, और अब खरीद केंद्रों पर माल की अधिकतम आवक की उम्मीद नहीं है। यह अवस्था सामान्यतः उत्तेजनापूर्ण नहीं लग रही है। उत्तर प्रदेश में भी गेहूं की खरीद की तारीख को 1 अप्रैल की बजाय 1 मार्च से आरंभ करने का निर्णय लिया गया, और व्यापारियों और आटा मिल मालिकों को खरीद प्रक्रिया में सहभागी नहीं होने के निर्देश दिए गए, लेकिन इससे कोई विशेष परिणाम नहीं मिला। बाद में, आटा मिल मालिकों को किसानों से उनकी तात्कालिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सीमित मात्रा में गेहूं खरीदने की अनुमति दी गई। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करे

MSP पर गेंहू खरीद के आंकड़े और लक्ष्य
पंजाब और हरियाणा में सरकारी गेहूं की खरीद 31 मई को बंद हो गई। इन दोनों राज्यों में कुल लगभग 196 लाख टन गेहूं की खरीद हुई, जो कि इस संयुक्त लक्ष्य का 93 फीसदी था। पंजाब में 130 लाख टन और हरियाणा में 80 लाख टन गेहूं की खरीद का लक्ष्य था। वहीं, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में कुल 160 लाख टन गेहूं की खरीद का लक्ष्य था, लेकिन 31 मई तक इन तीनों राज्यों में मिलाकर लगभग 69 लाख टन की खरीद हो सकी, जो की तय किये गए लक्ष्य से 43 प्रतिशत कम है। इस बार मध्य प्रदेश में 80 लाख टन एवं उत्तर प्रदेश में 60 लाख टन और राजस्थान में 20 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया था। 5800 रुपये में अपनी सरसों को बेचने के लिए लिंक पर क्लिक करे

31 मई 2024 तक राष्ट्रीय स्तर पर केंद्रीय पूल के लिए 265 लाख टन गेहूं की खरीद हुई, जो तय लक्ष्य 273 लाख टन से करीब 108 लाख टन कम है। खरीद केंद्रों में स्थिति चिंताजनक होने के कारण, आगे अधिक खरीद की संभावना कम है। सरकार ने तय लक्ष्य से कम गेहूं की खरीद के कारणों का अध्ययन करना शुरू किया है। कृषि मंत्रालय ने गेहूं के घरेलू उत्पादन के 1120.20 लाख टन के नए रिकॉर्ड स्तर तक पहुंचने का अनुमान लगाया है। ऐसा लगता है कि बड़े उत्पादक गेहूं का भारी स्टॉक अपने पास रखने की कोशिश कर रहे हैं।

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।