Movie prime

सरसों का भाव पहुँचा 6000 के करीब | जाने कब है सरसों बेचने का सबसे सही समय

सरसों का भाव पहुँचा 6000 के करीब | जाने कब है सरसों बेचने का सबसे सही समय

किसान साथियो सरसों के उत्पादन अनुमान को लेकर संशय बढ़ता जा रहा है। अच्छी बात यह है कि इस संशय का किसान साथियो को फायदा मिल रहा है। पिछले 13 दिन में सरसों के भाव 600 रुपये प्रति क्विंटल तक उछल चुके हैं। सरसों के कम उत्पादन के मद्देनजर तेल मिलें पैरिटी ना होने के बावजूद सरसों की खरीद करके स्टॉक बढ़ा रही हैं। और हर भाव में सरसों की खरीद आ रही है। साथियो किसी फ़सल में तेजी का माहौल बनता है भविष्य की खरीद आना आम बात है। बाजार को उम्मीद है कि आने वाले समय में सरसों के भाव और बढ़ जाएंगे इसलिए इस समय खरीद बढ़ा कर स्टॉक किया जा रहा है। मिलों की खरीद बढ़ने से मंडियों में भी तेजी आ गई है। हाजिर मंडियों में जो सरसों 15 दिन पहले 5000 में भी नहीं पूछ रहे थे वहां अब 5600 के आसपास के रेट मिलने लगे हैं। तेजी के इस माहौल के बीच यह सवाल अभी भी बना हुआ है कि क्या सरसों अपने 2021-2022 के प्रदर्शन को दोहरा पाएगी। क्या सरसों में में फिर से 6000 के उपर के भाव मिल सकते हैं। आज की पोस्ट में हम इसी मुद्दे को समझने की कोशिश करेंगे।

ताजा मार्केट अपडेट
आज शनिवार के दिन भी शुक्रवार की तरह बाजार में तेजी दिख रही है। आज भी बाजार 75 से लेकर 100 रुपये तक तेज चल रहा है। सलोनी प्लांट पर सरसों के रेट 6450 तक जा चुके हैं जयपुर में भी सरसों में जबरदस्त तेजी  दिख रही है और आज भाव 5975 प्रति क्विंटल हो गया है। पूरी-पूरी संभावना है कि आज ही जयपुर में आपको ₹6000 प्रति क्विंटल का भाव दिख जाए । चरखी दादरी मंडी में सुबह 5850 का भाव खुला था लेकिन दोपहर की लेटेस्ट अपडेट बता रही कि अब भाव 5900 का मिल पहुंच में हो गया है।

सरसों में और कितनी तेजी बाकी
किसान साथियों सरसों की आवक लगातार कमजोर बनी हुई है। भाव बढ़ने के बावजूद भी सरसों की आवक में कोई बड़ा सुधार देखने को नहीं मिल रहा है । आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले साल आज ही के दिन सरसों की आवक 8 लाख बोरी की थी जबकि इस साल यह 6 लाख बोरी के आसपास चल रही है। सरसों की आवक में दर्ज की जा रही यह कमी बता रही है कि उत्पादन कम हुआ है। धीरे-धीरे करके विदेशी बाजारों में भी सुधार बनने ही लगा है। अगर विदेशी बाजारों का थोड़ा और सहारा मिल जाए तो सरसों में 6000 के उपर भाव दिख जाएंगे। किसान साथियों ध्यान देने वाली बात यह है कि उत्पादन कम रहने की खबर ने बाजार को पहले ही ₹600 तक बढ़ा दिया है अब आगे और कितनी तेजी बची है इसका निर्णय उत्पादन के सही डेटा आने के बाद ही लग सकेगा। तब तक के लिए आपको बाजार को मानिटर करते रहने की जरूरत है।जिन किसान साथियों ने कई सालों से सरसों को होल्ड करके रखा हुआ है वह आज अपना माल निकाल सकते हैं । क्योंकि सरसों के भाव बहुत बढ़ गए हैं इसलिए बहुत संभावना है कि सरसों में मुनाफा वसूली आ सकती है इसलिए जो किसान साथी माल को होल्ड करना चाहते हैं वह लगातार बाजार को मॉनिटर करते रहे और जैसे ही सरसों का भाव गिरावट की तरफ चले वे उसी स्तर पर अपना माल निकाल सकते हैं व्यापार अपने विवेक से करें

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।