Movie prime

हरियाणा में इस दिन से होगी रबी फसलों की खरीद, यहां पढ़ें पूरी जानकारी

 
हरियाणा में इस दिन से होगी रबी फसलों की खरीद, यहां पढ़ें पूरी जानकारी

हरियाणा में इस दिन से होगी रबी फसलों की खरीद, यहां पढ़ें पूरी जानकारी
किसान साथियो रबी का सीजन सिर पर आ चुका है। किसानों के साथ साथ व्यापारी और सरकार भी नयी फ़सल बेचने और खरीदने की तैयारी में जुट गए हैं। इसी सिलसिले में हरियाणा ने भी रबी की फ़सल खरीद के लिए तारिख निर्धारित कर दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार हरियाणा में 28 मार्च से रबी फसलों की खरीद शुरू होने जा रही है। WhatsApp पर भाव पाने के लिए ग्रुप join करे

निम्नलिखित तरीके से रबी फसलों की खरीद की जाएगी। 28 मार्च से सरसों 1 अप्रैल से चना और 1 जून 2023 से सूरजमुखी की खरीदी की जाएगी। मुख्य सचिव संजीव कौशल ने रबी फसलों की समय पर खरीद सुनिश्चित करने के लिए खरीदी की तैयारियों की समीक्षा की है। श्री कौशल ने अधिकारियों को उपार्जन की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने उपार्जन केन्द्रों को चिन्हित करने, भण्डारण एवं बारदानों की समुचित व्यवस्था करने तथा रबी फसलों की समय पर उपार्जन प्रारंभ करने के निर्देश दिये हैं। इस बैठक में श्री कौशल को अवगत कराया गया कि वर्ष 2022-23 के दौरान राज्य में 18.16 लाख एकड़ भूमि में सरसों की खेती की गई है। जबकि चना और सूरजमुखी की खेती क्रमश: 93,000 एकड़ और 37,000 एकड़ में की गई है। प्रदेश में 765 किलोग्राम प्रति एकड़ के हिसाब से इस साल 13.89 लाख मीट्रिक टन सरसों का उत्पादन होने की संभावना है। इसी तरह 436 किलोग्राम प्रति एकड़ से 40,000 मीट्रिक टन चना और 800 किलोग्राम प्रति एकड़ से 30,000 मीट्रिक टन सूरजमुखी का उत्पादन होने की संभावना है। बढ़ते तापमान से गेहूं को खतरा

हरियाणा राज्य सहकारी आपूर्ति एवं विपणन संघ (हैफेड) भारत सरकार की मूल्य समर्थन योजना (पीएसएस) के तहत, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (नेफेड) की ओर से सूरजमुखी के बीज और चने की खरीद करेगा। इसके अलावा, हरियाणा राज्य भण्डारण निगम पीएसएस के तहत एमएसपी पर सरसों की खरीद करेगा।

बैठक में ये थे उपस्थित
राज्य सरकार ने मूल्य समर्थन योजना के तहत बाजार शुल्क पर जीएसटी की प्रतिपूर्ति के लिए योजनागत योजना के तहत, 311.84 करोड़ रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति-सह-वित्तीय स्वीकृति (आरई) प्रदान की है. बैठक में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले के निदेशक मुकुल कुमार, कृषि एवं किसान कल्याण, हैफेड और एचएसडब्ल्यूसी के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. कैसा रहेगा आज सरसों का मार्केट | देखें सरसों की ताजा रिपोर्ट