Movie prime

कितनी और तेजी आएगी सरसों में | सरसों के किसानों के लिए जरूरी रिपोर्ट | मंडी जाने से पहले देखकर ही जाएं

कितनी और तेजी आएगी सरसों में | सरसों के किसानों के लिए जरूरी रिपोर्ट | मंडी जाने से पहले देखकर ही जाएं

किसान साथियो बुधवार के सरसों के बाजार का बारीकी से अध्ययन करें तो आप पाएंगे कि बाजार में विदेशी बाजारों की तेजी के अनुपात में भारतीय बाजार नहीं बढ़े हैं। बात यह है कि तेल तिलहन का व्यापारी पिछले दो सालों की मंदी को देखने के बाद थोड़ा सा डरा हुआ है। इसलिए व्यापारी बहुत फूँक फूँक कर कदम रख रहे हैं। लेकिन जिस तरह से अब विदेशी बाजार चल रहे हैं उसे देखते हुए ऐसा लगता है कि भारतीय बाजार में भी अब तेल तिलहन के बाजार की दिशा दशा बदलने वाली है। किसान साथियों मंडी भाव टुडे पर हमने दीवाली के बाद बताया था कि सरसों का बाजार आगे चलकर 1000 रुपए तक टूट सकता है और सरसों में MSP के बराबर भाव नहीं मिलने वाले। आज आप बाजार में ठीक ऐसी ही स्थिति देख रहे हैं। लेकिन अब यह माहौल बदलता दिख रहा है। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करें

किसान साथियों मंडी भाव टुडे पर हम अक्सर बताते हैं कि किसी भी फसल के भाव में लगातार तेजी या लगातार मंदी लंबे समय तक नहीं बनी रह सकती । यह तो सरकार की आयात नीतियां ऐसी थी जिसने लगातार पिछले 2 साल से सरसों के बाजार को दबा कर रखा हुआ है । लेकिन दोस्तों इस समय ऐसा लगता है कि सरसों के बाजार के अच्छे दिन फिर से आ सकते हैं। हमारे ऐसा कहने के पीछे क्या कारण है और किन तथ्यों के आधार पर हम यह कह रहे हैं उन्हें जानने के लिए आपको इस रिपोर्ट को पूरी तरह पढ़ना होगा।

ताजा मार्केट अपडेट
विदेशी बाजारों में तगड़ी तेजी आने के बावजूद आवक बढ़ने और तेल मिलों की सीमित मांग के कारण घरेलू बाजार में बुधवार को सरसों के भाव में स्वाभाविक तेजी नहीं दिखी। जयपुर में कंडीशन की सरसों के दाम 5600 तक जाने के बाद शाम को 5,550 रुपये प्रति क्विंटल पर स्थिर ही बने रहे। जबकि भरतपुर के बाजार में सरसों के भाव में 24 रुपये का मामूली उछाल दिखा और भाव 5160 रुपये प्रति क्विंटल हो गए। दिल्ली लॉरेंस रोड़ पर सरसों का भाव 5300 का रहा और रेवाड़ी में सरसों 200 रुपये तक उछल कर 5300 रुपये तक बिक गयी। रेगुलर बाजार के मुकाबले हाजिर मंडियों में भाव ज्यादा तेज हुए। सरसों की बढ़ी हुई आवक के तेजी को सीमित कर दिया। बुधवार को  सरसों की दैनिक आवक बढ़कर 9.25 लाख बोरियों की हुई।

प्लांटों पर कितनी तेजी
ब्रांडेड तेल मिलों पर सरसों के भाव को देखें तो यहां पर कारोबार के दौरान भाव 25-50 रुपये बढ़े थे लेकिन बढ़ती आवक को देखते हुए भाव शाम को स्थिर हो गए। सलोनी प्लान्ट पर सरसों के रेट ने दिन में 6000 का स्तर छू लिया था लेकिन शाम को यह 5950 रुपये पर ही बंद हुआ। गोयल कोटा प्लान्ट पर सरसों 25 रुपये तेज होकर 5425 के हो गए
 

विदेशी बाजारों की अपडेट
विश्व बाजार में खाद्वय तेलों की कीमतों में लगातार दूसरे दिन तेजी दर्ज की गई। मलेशियाई वायदा बाजार  KLC में पाम तेल की कीमतें 2% से ज्यादा तेज हुई। इसी तरह से अमेरिका के शिकागो में भी सोया तेल के भाव बढ़ गए। बाजार के जानकारों का कहना है कि रमजान के कारण मार्च में पाम उत्पादों के उत्पादन में कमी आई है, इसलिए भाव तेज हुए है। MP के किसानों को यहां मिलेगे सरसों के टॉप रेट

हाजिर मंडियों के टॉप भाव
हाजिर मंडियों के ताजा भाव की बात करें तो मंडियों में सरसों के भाव 4700 से 5300 प्रति क्विंटल तक लैब के हिसाब से बोले जा रहे हैं। मुख्य मंडियों के भाव को देखें तो राजस्थान की नोहर मंडी में सरसों का रेट 5060, श्री विजयनगर मंडी में सरसों का रेट 4886, श्री गंगानगर मंडी में सरसों का भाव 5090, रायसिंहनगर मंडी में सरसों का टॉप भाव 5050, राजगढ़ मंडी में सरसों का रेट 4900, संगरिया मंडी में सरसों का भाव 5000 लैब 40.8, गोलूवाला मंडी में 40 लैब सरसों का रेट 4861, पीलीबंगा मंडी में सरसों का टॉप रेट 5020 बीकानेर मंडी में सरसों का उच्चतम भाव 4951 अनूपगढ़ मंडी में सरसों का टॉप रेट 4995 रुपये प्रति क्विंटल तक रहा । हरियाणा की मंडियों की बात करें तो सिरसा मंडी में कंडीशन सरसों का भाव 5180 ऐलनाबाद मंडी में 40 लैब सरसों का भाव 5071 च दादरी मंडी में 5250, आदमपुर मंडी में 41 लैब सरसों का रेट 5120 और 42 लैब सरसों का भाव 5200, रेवाड़ी मंडी में सरसों का रेट 5300, च दादरी मंडी में सरसों का भाव 5250 लैब 40 नमी 7%, सिवानी मंडी में सरसों नान कंडीशन 4860 और कंडीशन 40% का रेट 5200 और लाडवा मंडी में नॉन कंडीशन सरसों 5115 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से बिकी है। इसके अलावा अबोहर मंडी में सरसों का भाव 5200 खैरथल मंडी में सरसों का रेट 5130 अलीगढ़ मंडी में सरसों का भाव 4900 हापुड़ मंडी में सरसों का रेट 5300 और खेरली मंडी में सरसों का भाव 5175 तक रहा।


घरेलू बाजार अपडेट
उत्पादक मंडियों में बुधवार को लगातार दूसरे दिन सरसों की दैनिक आवकों में बढ़ोतरी दर्ज की गई। व्यापारियों के अनुसार उत्पादक राज्यों में मौसम साफ रहा तो सरसों की दैनिक आवक का दबाव बना रहने की उम्मीद है। वैसे भी चालू रबी में सरसों का उत्पादन अनुमान ज्यादा है। सरसों तेल में मांग अभी बनी रहने का अनुमान है, हालांकि इसकी कीमतों में तेजी, मंदी काफी हद तक आयातित खाद्वय तेलों के दाम पर ही निर्भर करेगी।  जयपुर में सरसों तेल कच्ची घानी और एक्सपेलर की कीमतों में बुधवार को हल्का सुधार आया। सरसों तेल कच्ची घानी के भाव में 3 रुपये की तेजी आकर भाव  1,048 रुपये प्रति 10 किलो हो गए, जबकि सरसों एक्सपेलर तेल के दाम भी 3 रुपये बढ़कर  1,038 रुपये प्रति 10 किलो हो गए। जयपुर में मंगलवार को सरसों खल के भाव 15 रुपये कमजोर होकर दाम 2,525 रुपये प्रति क्विंटल रह गए।

आवक में उछाल
देशभर की मंडियों में सरसों की दैनिक आवक बढ़कर 9.25 लाख बोरियों की हुई, जबकि पिछले कारोबारी दिवस में आवक 7.25 लाख बोरियों की ही हुई थी। कुल आवकों में से प्रमुख उत्पादक राज्य राजस्थान की मंडियों में नई सरसों की 5.25 लाख बोरी, जबकि मध्य प्रदेश की मंडियों में एक लाख बोरी, उत्तर प्रदेश की मंडियों में एक लाख बोरी, पंजाब एवं हरियाणा की मंडियों में 75 हजार बोरी तथा गुजरात में 35 हजार बोरी, एवं अन्य राज्यों की मंडियों में 90 हजार बोरियों की आवक हुई।

क्या सरसों में और तेजी आएगी
किसान साथियो जिस तरह से विदेशी बाजार चल रहे हैं और सरकारी खरीद चल रही है उसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि सरसों के भाव जल्दी ही 200 रुपये तक और बढ़ सकते है। हालांकि एक बात का ध्यान जरूर रखना होगा कि पिछले एक महीने में  विदेशी बाजारों में बहुत ज्यादा तेजी आ गई है और इसमे करेक्शन आ सकता है। इसलिए जो साथी माल को निकालना चाहते हैं वे हर उछाल पर थोड़ा बहुत माल निकालते रहें। जो किसान साथियो साथी लंबे समय तक हिंद करना चाहते हैं वे माल को रोककर चल सकते हैं। दीवाली तक सरसों में 6000 तक के भाव भी दिख सकते हैं। व्यापार अपने विवेक से करें

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।