Movie prime

भारतीय चावल की निर्यात कीमत पहुंची चार महीनों के ऊंचे स्तर पर | देखे पूरी जानकारी इस रिपोर्ट में

भारतीय चावल की निर्यात कीमत पहुंची चार महीनों के ऊंचे स्तर पर | देखे पूरी जानकारी इस रिपोर्ट में
एक सप्ताह पूर्व की तुलना में बीते सप्ताह एशियाई कारोबार में भारत के पारबॉयल्ड चावल की निर्यात कीमत तेज होती हुई चार महीनों के ऊंचे स्तर पर पहुंच गई। कारोबारियों और विश्लेषकों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मांग मजबूत बनी होने तथा आपूर्ति सामान्य से कमजोर बनी होने के कारण थाईलैंड के चावल की निर्यात कीमत को भी समर्थन मिला। आलोच्य सप्ताह के दौरान भारत के 5 प्रतिशत टुकड़ा पारबॉयल्ड चावल की कीमत 525 से 535 डॉलर प्रति टन पर बोली गई। इसका नवीनतम स्तर बीते सितंबर, 2023 के बाद का सबसे ऊंचा है। एक सप्ताह पूर्व इसकी कीमत 510 से 517 डॉलर प्रति टन पर बनी हुई थी। WhatsApp पर भाव देखने के लिए हमारा ग्रुप जॉइन करें

एक कारोबारी ने कहा कि मांग सुस्त बनी होने के बाद भी कीमतों में वृद्धि हुई है क्योंकि सरकार की मजबूत खरीद की वजह से धान की उपलब्धता घट रही है। थाईलैंड का 5 प्रतिशत टुकड़ा चावल 655 डॉलर प्रति टन पर बोला गया। एक सप्ताह पूर्व इसकी कीमत 648-650 डॉलर प्रति टन थी। कारोबारियों का कहना है कि इंडोनेशिया तथा कुछ अफ्रीकी देशों की मांग मजबूत बनी होने से कीमतों को तेज होने में मदद मिली है। यहां स्थित एक कारोबारी ने कहा कि कई देशों से चावल की खरीद करने की योजना की घोषणा कि जाने के बाद इंडोनेशिया की काफी मात्रा में नई मांग आ रही है । इसकी वजह से बाजार में अच्छी- खासी हलचल हो रही है। इसके परिणामस्वरूप कीमतें बढ़ी हैं। उन्होंने आगे बताया कि आपूर्ति में भी कमी आई है और इसकी वजह से भी कीमतों में वृद्धि को बल मिला है। नई फसल की बाजारों में अगले महीने के आसपास ही आपूर्ति होने की उम्मीद की जा रही है।

वियतनाम का 5 प्रतिशत टुकड़ा चावल 653 डॉलर प्रति टन के बीते सप्ताहांत के स्तर पर ही मजबूती से रुका रहा। गौरतलब है कि वियतनाम के चावल की कीमत पिछले तीन सप्ताहों से इसी स्तर पर अपरिवर्तित बनी हुई है। मेकांग डेल्टा स्थित एक कारोबारी ने कहा कि फिलहाल मांग मजबूत नहीं है क्योंकि खरीददर शारदीय-बासंती फसल की नई आपूर्ति की प्रतीक्षा कर रहे हैं। कारोबारियों ने बताया कि हमें उम्मीद है कि इस वर्ष हमारा निर्यात बढ़ता हुआ 80 लाख टन के सीजन 2023 के आसपास पहुंच सकता है क्योंकि वियतनाम के चावल की अंतर्राष्ट्रीय मांग मजबूत बनी रहने की संभावना है। औसत उत्पादकता तथा बकाया स्टॉक अच्छा होने के बाद भी आलोच्य सप्ताह के दौरान बंगलादेश में चावल की कीमत में 5 बंगलादेशी टका (0.0457 डॉलर) की तेजी आई। सरकार ने चावल में आई नवीनतम तेजी के लिए जमाखोरों को दोषी ठहराते हुए कहा है कि वह अंधाधुंध मुनाफा कमाना चाहते हैं । बंगलादेश के खाद्य मंत्री साधन चंद्रा मजूमदार ने मिलर्स तथा कारोबारियों को चेतावनी देते हुए कीमतों को नीचे लाने को कहा है। यदि ऐसा नहीं होता है तो वह ऐसे सटोरियों के प्रति कड़ी कार्रवाई करेंगे। बाकी व्यापार अपने विवेक से करे

👉 यहाँ देखें फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट

👉 यहाँ देखें आज के ताजा मंडी भाव

👉 बासमती के बाजार में क्या है हलचल यहाँ देखें

About the Author
मैं लवकेश कौशिक, भारतीय नौसेना से रिटायर्ड एक नौसैनिक, Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मैं मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले का निवासी हूँ। मंडी मार्केट( Mandibhavtoday.net) को मूल रूप से पाठकों  को ज्वलंत मुद्दों को ठीक से समझाने और मार्केट और इसके ट्रेंड की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।